श्री कालभैरव मंदिर

अष्ट भैरवों में प्रमुख श्री कालभैरव का यह मंदिर बहुत प्राचीन और चमत्कारिक है । इसकी प्रसिद्धि का प्रमुख कारण है कि मुँह में किसी प्रकार का छेद नहीं है, फिर भी भैरव की यह प्रतिमा मदिरापान करती है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>